Products

नारायणअस्त्र

Downloads

नारायणअस्त्र एक आर्गनिक किटक नाशक.

  • इसमें जहर नहीं है.
  • "नारायणअस्त्र" में ना कोई केमिकल है ना जहर, इसलिए कीड़ों में इसकी प्रतिकारशक्ति नहीं आती, जब भी इस्तेमाल करो, कीड़ों का समूल उच्चाटन करता है, इसलिए फिर से या कुछ ही दिनों में कीड़ों का भयानक अटेक नहीं हो पाता.
  • जहर का छिड़काव किटकों को विष कन्या बना रहा है.
  • फसलों को नुकसान पहुंचानेवाले कीड़ों को मारने के लिए जहरीली दवाओं का छिड़काव किया जाता है, राजा महाराजाओं के जमाने में किसी कन्या को लगातार जहर देकर जहरीली कन्या बनाया जाता था, फिर उस पर जहर का कोई असर नहीं होता था, अगर वो किसी को काट ले तब वो व्यक्ति मर जाता था.
  • बार-बार का छिड़काव भी निरर्थक सिद्ध हो रहा है.
  • अब उस जहरीली कन्या का रूप ले लिया है कीड़ों ने, हम कीड़ों पर जहरीली दवाओं का छिड़काव करते हैं, उन कीड़ों में जहर की प्रतिकारशक्ति आ जाती है, इसलिए कई बार ऐसा होता है की, बार-बार दवाओं का छिड़काव करने के बाद भी कीड़े नहीं मरते.

नारायणअस्त्र एक आर्गनिक किटक नाशक.

  • नारायणअस्त्र प्राकृतिक किड नियंत्रण प्रणाली को कार्यरत करता है.
  • "नारायणअस्त्र" 100 प्रतिसत आर्गनिक उत्पाद है, प्राकृतिक घटकों से बनाया गया है, इसके इस्तेमाल से मित्र कीड़े सुरक्षित रहते हैं, सिर्फ वो कीड़े मरते हैं, जो फसल को नुकसान पहुंचाने का प्रयत्न करते हैं, मित्र कीड़ों का जिन्दा रहना बहोत जरुरी है, मित्र किड हानिकारक कीड़ों को समाप्त करते हैं, कीड़ों के नियंत्रण की प्राकृतिक व्यवस्था कार्यरत रहने से छिड़काव में कमी आती है.
  • दवा एक काम अनेक.
  • "नारायणअस्त्र" रस चूसनेवाले कीटकों के लिए कर्दनकाल है, फसल पर ज्यादातर कीड़े पत्तों के पीछे छुपकर काम करते हैं, इसलिए उन पर नियंत्रण में मुश्किलें आती हैं, "नारायणअस्त्र" पत्तों के पीछे छुपे हुए कीड़ों को भी समाप्त करता है, इसलिए कीड़ों पर नियंत्रण आसान हो जाता है.
  • जरुरी है टेक्नीकल स्प्रेडर.
  • "नारायणअस्त्र" में कंपनी का टेक्नीकल स्प्रेडर "स्प्रे प्लस" मिलाना जरुरी है, "स्प्रे प्लस" मिलाने से छिड़काव का घोल पत्तियों में अंदर तक समा जाता है, इसलिए जब भी कोई किड फसल का नुकसान करने का प्रयत्न करती है, "नारायणअस्त्र" का घोल कीड़ों के शरीर में विकार उत्पन्न करता है, कीड़े खाना बंद कर देते हैं और भूखे रहकर मर जाते हैं.
  • अनेक दवाइयों के इस्तेमाल की आवश्यकता नहीं.
  • नारायणअस्त्र का इस्तेमाल करने से बहोत सारी रासायनिक दवाओं का मिश्रण बनाने की आवश्यकता नहीं रहती, कुछ फसलों में सिर्फ नारायणअस्त्र से पूरा कंट्रोल मिल जाता है, कुछ फसलों के लिए रासायनिक दवाई मिलाना पड़ती है, परन्तु कम से कम रासायनिक दवाई में काम हो जाता है.
  • पैसों की बचत ही बचत.
  • "नारायणअस्त्र" का इस्तेमाल मतलब पैसों की बचत, आज रासायनिक दवाई का एक पंप बनाने में 80 से 100 रुपये तक खर्च आता है, जबकि नारायण अस्त्र के एक पंप का खर्च 12 रुपये आता है, अगर रासायनिक दवाई का इस्तेमाल करना भी पड़ा, तब कम से कम मतलब सिर्फ एक रासायनिक दवा से काम हो जाता है.
  • अनेक दवाइयों के इस्तेमाल की आवश्यकता नहीं.

महत्वपूर्ण सूचना

  • नारायणअस्त्र का घोल तैयार करते समय, बेहतरीन रिजल्ट के लिए, प्रति पंप 02 मिली नारायणअस्त्र मिलाना जरुरी है.